ये था बाबा की उपस्थिति

IMG_1492
Congratulations for Success of 10th Annual Day of Saiaas
March 27, 2016
AjtfGDlVxzORv_2d7KWGMa2mUJiF7gKTUrfoY74Z_mYT
Our Beloved Guru Shri SAI BABA is considered as Incarnation of shri SAI Swami Samarth of Akkalkoat
April 10, 2016
Show all

ये था बाबा की उपस्थिति

saibaba12

एक बार दासगणु जी बॉम्बे कीर्तन के लिए गए, कहा जाता है जब वो कीर्तन करते थे तो अपने भजनों के बीच में साक्षात् बाबा के दर्शन करा दिया करते थे, ऐसे ही कीर्तन के समय वह मौज़ूद भक्तो ने बाबा के दर्शन करे।

उसमे से एक भक्त थे चोलकर जी, जिनके मन में बाबा से मिलने की जिज्ञासा जागी, परंतु पैसे की कमी के कारण शिरडी जाने में असमर्थ थे।

तब वही उन्होंने बाबा से प्रार्थना की अगर मुझे नौकरी में उन्नति मिली तो जरूर आऊंगा।

बाबा की किरपा से उनका प्रमोशन हो गया, लेकिन घर के खर्चे ही बड़े मुश्किल से पुरे होते थे, मन में चाहत लेकिन लेकिन जाना नहीं हो पा रहा था।

तब उन्होंने चीनी का इस्तेमाल छोड़ दिया और जो पैसा चीनी न खाने से बचा उन पैसो से दर्शन के लिए वो शिरडी गए।

तब बाबा ने श्यामा जी से कहा बॉम्बे से चोलकर आये हैं इनको चाय पिलाओ, और हाँ जरा शकर भर के डालना बहुत दिन से शकर नही खाया इन्होंने।।

और बस चोलकर जी बाबा के चरणों में गिर के रोने लगे।

ये था बाबा की उपस्थिति।।।

Share

2 Comments

  1. Kavita Mishra says:

    उस के दिल मे क्षदा थी बाबा न उस की मन की बात पढ ली

  2. Bharti sabharwal says:

    Bahut hi badiyaa.. Baba aaj bhi shirdi mein virajmaan hai.. Aur Aise hi humare dilo mein bhi rahe yahi meri prathana hai baba se. Jai Sai ram ? bhartisabharwal@gmail.com

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *